Month: June 2019

Safar aur Nagme : Spending whole of summer in Nainital

Safar aur Nagme : Spending whole of summer in Nainital

चिरागों को आंखों में महफूज़ रखना बड़ी दूर तक रात ही रात होगी अज़ल-ता-अब्द तक सफ़र ही सफ़र है कहीं सुबह होगी, कहीं रात होगी मुसाफ़िर हो तुम भी, मुसाफ़िर हैं हम भी किसी मोड़ पर फिर मुलाक़ात होगी.. Bashir Badr Pictorial Summary of summers in Nainital. In the last 60 days, I had an …

Safar aur Nagme : Spending whole of summer in Nainital Read More »